इसमें बहुत कुछ ऐसा है जो WazirX ऐप को 2022 में भारत में क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा ऐप बनाता है:

भास्कर एक्सप्लेनर: रिजर्व बैंक डिजिटल रुपया लाने की तैयारी में; जानिए यह आपकी जेब में रखे रुपए से कितना अलग होगा?

भारत में जल्द ही लेन-देन का तरीका बदलने वाला है। आपको रुपए का विकल्प मिल क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे रहा है। होगा तो वह भी रुपया ही, जारी भी रिजर्व बैंक ही करेगा, पर वह प्रिंटेड नोट से बिल्कुल ही अलग होगा। रिजर्व बैंक ही नहीं बल्कि दुनियाभर के केंद्रीय बैंक बिटकॉइन, ईथर जैसी प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी के विकल्प के तौर पर डिजिटल करेंसी पर काम कर रहे हैं।

पिछले हफ्ते रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर टी रबी शंकर ने विधि सेंटर फॉर लीगल पॉलिसी के वेबिनार में कहा कि भारत को भी डिजिटल करेंसी की जरूरत है। यह बिटकॉइन जैसी प्राइवेट वर्चुअल करेंसी यानी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से होने वाले नुकसान से बचाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि रिजर्व बैंक इस पर काम कर रहा है।

जानते हैं कि यह डिजिटल रुपया करेंसी नोट से कितना अलग होगा? क्या इसमें भी बिटकॉइन की तरह निवेश किया जा सकेगा? बैंकों की क्या भूमिका रह जाएगी? हम जो डिजिटल पेमेंट कर रहे हैं, उनसे यह डिजिटल रुपया किस तरह अलग होगा?

क्रिप्टोकरेंसी के रहस्य

अभी तक शेयर बाजार को लोग अस्थिर बाजार के रूप में जानते हैं| जिसमें शेयर का मूल्य का उतार-चढ़ाव के कारण इसमें निवेश जोखिम भरा माना जाता है| इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से लोग कतराते है| जबकि यह पूर्णता सरकार द्वारा नियंत्रित बाजार है| क्रिप्टो करेंसी का बाजार बहुत ही ज्यादा अस्थिर होता है| क्रिप्टो करेंसी का मूल्य कभी आसमान छूता है तो कभी धूल चाटता है|

चूंकि क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे क्रिप्टो करेंसी का ट्रेनिंग किसी केंद्रीय एक्सचेंज के बजाए विभिन्न क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज ऊपर होती है इसलिए यह इसके मूल्य को क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे अस्थिर बनाता है| अगर कुछ दिनों से आप क्रिप्टो करेंसी का अनुसरण कर रहे हैं| तो आप देख पाया होंगे क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे की यह कितना अस्थिर है| निवेश करने से पहले क्रिप्टोकरेंसी के रहस्य को अच्छी तरह से समझ में आपके लिए अति आवश्यक है|

क्रिप्टोकरेंसी का कोई आधार नहीं है

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल मुद्रा है, जिस पर किसी भी केंद्रीय बैंक या सरकार का नियंत्रण नहीं है| सभी क्रिप्टो करेंसी स्वतंत्र रूप से काम करती है| इनका मूल्यांकन करने के लिए न कोई संस्था है, और न ही कोई ठोस मौलिक कारक जिस पर उनका मूल्यांकन किया जा सके| क्रिप्टो करेंसी की क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे विश्वसनीयता तथा फंडामेंटल के विषय में जानकारी करने का कोई Tool या Factor उपलब्ध नहीं है|

क्रिप्टोकरेंसी के बाजार में हजारों क्रिप्टो करेंसी मौजूद है| इनमें से कुछ का चुनाव कर उस में निवेश करना एक कठिन कार्य है| इनमें कुछ क्रिप्टो करेंसी अच्छे हैं | जिन पर दांव लगाया जा सकता है| इनमें से बिटकॉइन एक है, जो सबसे पुराना और सबसे ज्यादा मूल्य का क्रिप्टो करेंसी | कुछ अन्य क्रिप्टो करेंसी भी हैं| जिसमें आप निवेश कर सकते हैं | इसकी जानकारी हमारी अन्य लेख से ले सकते हैं|

क्रिप्टोकरेंसी के व्यापार में ब्लॉकचेन का महत्व

जब हम क्रिप्टो करेंसी के व्यापार की ओर देखते हैं| तो हमें यह जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि, क्रिप्टो करेंसी के अंदर क्या है जो इसे इतना मूल्यवान बनाता है | क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित है | दरअसल ब्लॉकचेन एक बुनियादी ढांचा है, जिस पर क्रिप्टो करेंसी की स्थापना की जाती है| यह तकनीक एक डिजिटल तथा विकेंद्रीकृत खाता बही है, जो लेन देन और भुगतान का रिकॉर्ड सुरक्षित तथा प्रभावी ढंग से दर्ज करती है | यह क्रिप्टोकरेंसी का टॉप सीक्रेट भी होता है|

क्रिप्टो करेंसी में लेनदेन और भुगतान के रिकॉर्ड को एक ब्लॉक में दर्ज किया जाता है| जब इस ब्लॉक की क्षमता पूरी हो जाती है तो इसे ब्लॉकचेन में जोड़ दिया जाता है फिर दूसरे ब्लॉक का निर्माण किया जाता है| इन रिकॉर्ड को ब्लॉक में दर्ज करने के लिए एक गुप्त कोड की आवश्यकता होती है| इस गुप्त कोड के निर्माण में Miners की अहम भूमिका होती है| Miners उच्च क्षमता वाले कंप्यूटर का उपयोग से जटिल गणितीय समीकरणों को हल कर एक Hash code का निर्माण करते हैं| इसके लिए उन्हें Reward के रूप में coin दिया क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे जाता है| यह क्रिप्टोकरेंसी के रहस्य में से एक है, जिसे आप को जाना चाहिए|

विकेंद्रीकरण इसे अत्याधिक सुरक्षित बनाता है

जैसा कि हम जानते हैं, क्रिप्टो करेंसी कोई केंद्रीय नियंत्रण वाली करेंसी नहीं है, इस पर एक संस्था, सरकार फिर एक व्यक्ति व्यक्ति का नियंत्रण नहीं है| कोई ऐसा एक केंद्रीय डाटा केंद्र भी नहीं है, जिस पर सारे के सारे विवरण एक ही जगह दर्ज है| और जहां से कोई साइबर अपराधी हमला कर उस पर नियंत्रण हासिल कर सकें|

ब्लॉकचेन विकेंद्रीकरण प्रणाली पर आधारित है| यह प्रणाली ब्लॉकचेन को आकर्षक, सुरक्षित तथा विश्वसनीय बनाता है | विकेंद्रीकरण प्रणाली ब्लॉकचेन में अधिक क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे संख्या में होने वाले लेन देन को सुरक्षित और सुदृढ़ बनाते हैं|

सर्वश्रेष्ठ क्रिप्टोकरेंसी ऐप: WazirX सर्वश्रेष्ठ क्यों है? (Best Cryptocurrency App: Why WazirX is the Best?)

Best Cryptocurrency App why wazirx is the best

बेहतरीन 2021 के बाद; क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग भारतीय ट्रेडर्स के बीच मुख्यधारा में तेजी से बढ़ रहा है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि भारत क्रिप्टो अपनाने के मामले में दूसरे स्थान पर है और दुनिया में क्रिप्टो मालिकों की संख्या यहां सबसे अधिक है। सट्टा लगाने के अलावा, क्रिप्टोकरेंसी व्यवहार्य दीर्घकालिक निवेश के रूप में बड़े पैमाने पर उपयोग किया जा रहा है जो अच्छा लाभ देने के अलावा, आपके निवेश पोर्टफोलियो में बचाव के रूप में कार्य कर सकते हैं। NFT, Defi, मेटावर्स, गेमिंग, और वेब3 डिजिटल वर्ल्ड में नए शब्द हैं और उनसे संबंधित टोकन लोकप्रियता प्राप्त कर रहे हैं। क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग किसी ऐप के माध्यम से किए जाने पर सबसे सुविधाजनक होती है।

WazirX के बारे में

WazirX भारत का सबसे भरोसेमंद बिटकॉइन और क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बन गया है, जिसे हार्डकोर ट्रेडर्स और जुनूनी ब्लॉकचेन समर्थकों की एक टीम द्वारा बनाया गया है। यह एक्सचेंज दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज,, बाइनेंस ग्रुप का हिस्सा है, जो 180 देशों में उपयोगकर्ताओं की सेवा कर रहा है। एक्सचेंज 2018 में शुरू हुआ और तब से उपयोगकर्ताओं की संख्या में बहुत अधिक वृद्धि हूई है। एक्सचेंज का ट्रेडिंग वॉल्यूम प्रति माह 5.4 बिलियन डॉलर का है और यह एक प्रतिपादक दर से बढ़ रहा है। एक्सचेंज के 11 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं और इसे iOS, एंड्रॉइड और डेस्कटॉप सहित कई प्लेटफार्म के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है।

यदि आप 2022 में सर्वश्रेष्ठ क्रिप्टोकरेंसी ऐप की तलाश में नए ट्रेडर हैं, तो WazirX निश्चित रूप से आपका पसंदीदा विकल्प हो सकता है। 2022 में, भारत में, आप सैकड़ों क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छे ऐप पर एक पेशेवर की तरह ट्रेड कर सकते हैं, और सबसे तेज़ और सबसे सहज उपयोगकर्ता अनुभव का आनंद ले सकते हैं। हैप्पी ट्रेडिंग!

Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करती है? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं? जानिए

Cryptocurrency

दुनिया के कई देशों में अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) चलन में क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे है. इनमें बिटकॉइन का नाम काफी पॉपुलर है और सुना जाता है. इसीलिए आज हम इस करेंसी के बारे में जानेंगे कि आखिर क्रिप्टो करेंसी क्या है और यह कैसे काम करती है और इसके फायदे और नुकसान क्या-क्या हैं. वैसे तो आजकल हम जिस करेंसी का इस्तेमाल अपने लेनदेन के लिए करते हैं वो एक देश की अप्रूवड करेंसी होती है जैसे भारत में लेन-देन के कामों में रुपया का इस्तेमाल किया जाता है ठीक उसी तरह अलग-अलग देशों की अलग-अलग करेंसी होती है.

वहीं आप अमेरिका की करेंसी को देख लो वहां डॉलर चलते हैं इसी तरीके से दुनिया के अलग-अलग देशों की अलग-अलग करेंसियां होती हैं, जिनका इस्तेमाल केवल उसी देश में किया जाता है, जहां उसका चलन हो लेकिन जिस तरह हम बाकी करेंसी को हाथ से छू सकते हैं उसे जेब में रख सकते हैं. वैसे हम क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के साथ नहीं कर सकते हैं. हैरान मत होइए आपके इसी सवाल का जवाब हम अपने इस आर्टिकल में देने वाले हैं, तो आइए जानते हैं..

आखिर क्या है Cryptocurrency ?

Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करती है? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं? जानिए

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एक ऐसी करेंसी है, जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर बनी होती है. ये एक डिजिटल करेंसी है, इसका इस्तेमाल क्रिप्टोग्राफी द्वारा किया जाता है डार्क वेब की दुनिया में खासतौर पर इसका इस्तेमाल किसी सामान को खरीदने और सर्विस खरीदने के लिए किया जाता है. सबसे पहले इसकी शुरुआत जापान के सतोषी नाकमोतो नामक इंजीनियर ने सन 2009 में की थी, जिसने इस करेंसी(Cryptocurrency) का नाम बिटकॉइन रखा था. शुरू में लोगों ने इसे ज्यादा अहमियत नहीं दी, लेकिन आज के जमाने में यह सबसे ज्यादा महंगी क्रिप्टो करेंसी है. 11 सालों में लगभग 900 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी बाजार में उपलब्ध है. इसके काम करने का तरीका पीयर-टू-पीयर इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है.

इस करेंसी की ग्रोथ कैसे होती है ?

Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करती है? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं? जानिए

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) की ग्रोथ कैसे होती है यह जानने के लिए हमें इसका मार्केट में प्रदर्शन देखना होगा. ब्लैक मार्केटिंग में इसका प्रदर्शन बहुत अच्छा होता है इसमें इन्वेस्ट करना काफी फायदे का सौदा साबित हो सकता है. आपको बता दें कि, लगभग 900 से 1000 तक Cryptocurrency बाजार में उपलब्ध है, जब यह क्रिप्टो करेंसी लांच की गई थी तब इनकी कीमत जीरो के बराबर थी, लेकिन उसमें कुछ की कीमत आज $1000 तक के बराबर है. इसका अंदाजा लगा सकते हैं कि फ्यूचर में यह करेंसी कितनी तरक्की कर सकती है और लोगों का रुझान शेयर बाजार से हटकर अब इस तरफ होने लगा है.

क्रिप्टोकरेंसी तेजी से लोकप्रिय क्यों हो रही है?

दूसरी मुद्राओं या करेंसीज की तरह क्रिप्टोकरेंसी पुराने बैंकिंग सिस्टम को फॉलो नहीं करती और इसपर अलग-अलग देश की सरकारों का नियंत्रण नहीं होता। यानी कि बिना किसी मीडियेटर बॉडी के नियंत्रण इन्हें इस्तेमाल करने वालों के पास होता है और वे डिजिटल करेंसी से खरीददारी कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी को भविष्य की मुद्रा माना जा रहा है और लोग इसमें निवेश कर रहे हैं। यही वजह है कि बीते कुछ साल में इसकी क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे वैल्यू कई गुना बढ़ गई है।

क्रिप्टोकरेंसी को आप किसी कंपनी के शेयर्स मान सकते हैं, जिन्हें खरीदने के लिए तय रकम देनी होती है। इन शेयर्स की कीमत घट या बढ़ सकती है और जरूरत पड़ने पर आप ये शेयर बेच भी सकते हैं। ठीक इसी तरह आपको क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए अपनी मुद्रा (जैसे- डॉलर या रुपये) में रकम चुकानी होती है। कुछ वक्त बीतने के बाद आपकी ओर से खरीदी गई क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू कम या ज्यादा मिल सकती है।

कैसे काम करता है क्रिप्टोकरेंसी का लेनदेन?

जाहिर सी बात है कि क्रिप्टोकरेंसी की मदद से होने वाले लेनदेन का एक डाटाबेस होना जरूरी है और यहां ब्लॉकचेन काम आती है। क्रिप्टोकरेंसी की मदद से होने वाले लेनदेन ब्लॉकचेन में रिकॉर्ड होते हैं। यानी कि अगर एक यूजर ने क्रिप्टोकरेंसी की मदद से दूसरे को भुगतान किया तो यह जानकारी एक ब्लॉक में एनक्रिप्ट कर दी जाएगी और क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू एक से दूसरे यूजर के पास सुरक्षित ढंग से ट्रांसफर कर दी जाएगी।

किसी मुद्रा या करेंसी को स्टोर करने के लिए एक वॉलेट की जरूरत पड़ती है। असली नोट जेब में रखे पर्स में और डिजिटल लेनदेन से जुड़ी जानकारी हम पेमेंट ऐप्स या वॉलेट में रखते हैं। क्रिप्टोकरेंसी क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे खरीदने के बाद आपको उसे अपने डिजिटल वॉलेट में रखना होता है, जो काम क्रिप्टो ऐप्स कर देती हैं। ऐसे क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे वॉलेट्स में क्रिप्टोकरेंसी खरीदने या बेचने का विकल्प देते हुए भारत में एक दर्जन से ज्यादा क्रिप्टो एक्सचेंज मार्केट काम कर रहे हैं।

घटती या बढ़ती क्यों है क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू?

क्रिप्टोकरेंसी ही नहीं बल्कि दुनिया की सभी मुद्राओं की वैल्यू घटती और बढ़ती रहती है। अगर किसी करेंसी को में ज्यादा लोग निवेश करना चाहते हैं और करेंसी सीमित है, तो उसकी कीमत बढ़ जाती है। वहीं, इस्तेमाल करने वाले ज्यादा हो जाएं और निवेश करने वाले कम तो वैल्यू कम होने लगती है। बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी खरीदने वाले बढ़ गए हैं इसलिए आज एक बिटकॉइन की कीमत करीब 33 लाख रुपये के बराबर है।

भारत में मार्च, 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने क्रिप्टोकरेंसी पर लगा बैन हटा दिया है, यानी कि इसे खरीदना या इस्तेमाल करना अवैध नहीं है। क्रिप्टोकरेंसी की मदद से किए जाने वाले पेमेंट ज्यादा सुरक्षित होते हैं और इनमें मिडिलमैन ना होने के चलते ज्यादा प्रोसेसिंग फीस नहीं देनी पड़ती। क्रिप्टोकरेंसी की मदद से किया जाने वाला लेनदेन गोपनीय भी होता है। साथ ही इसकी तेजी से बढ़ती वैल्यू भी इसमें किए गए निवेश को बेहतर बना सकती है।

रेटिंग: 4.33
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 530